Differences between Cartilegenous and Bony Fish

0
1195
views

मत्स्य (Pisces ) =

”  मत्स्य वर्ग के अंतर्गत उन जलीय  जीवो को शामिल किया जाता है जिनका शरीर धारा रेखित होता है , तथा जिसका शरीर शल्को  के द्वारा ढका होता है , जिनमें श्वसन के लिए gills , तैरने के लिए fins  तथा संवेदनाओं को ग्रहण करने के लिए वार्बलर्स पाए जाते है |”

उपास्थिल एवं अस्थिल मछलियों के बीच अंतर –

मछली को उन में पाए जाने वाले अंतः कंकाल के आधार पर दो समूह में वर्गीकृत किया जा सकता है – 

  1. उपास्थिल मछलियां (Cartilegenous Fish  )
  2. अस्थिल  मछलियां (Bony Fish )
उपास्थिल एवं अस्थिल मछलियों के बीच अंतर –
उपास्थिल मछलियां ( Cartilegenous Fish  ) अस्थिल  मछलियां ( Bony Fish )
1. अंतः कंकाल उपास्थि का बना होता है | अंतः कंकाल अस्थि का बना होता है |
2. उपास्थिमय मछलियां मुख्यता समुद्र में पायी जाती है | अस्थिल मछलियां समुद्र के अलावा स्वच्छ जल में भी पाई जाती है |
3. शरीर में एक ही प्रकार के शल्क (Placoid ) पाए जाते हैं | शरीर में अलग-अलग प्रकार के शल्क पाए जाते हैं |
जैसे – Cycloid ,Ctenoids, Ganoids etc .
4. Gills- 5-7 जोड़ी होते है | Gills- 4 जोड़ी होते है |
5. गिल्स आवरण विहीन होते हैं | गिल्स आवरणयुक्त होते हैं |
6. मुख अधरतल पर होता है | मुख दूरस्थ सिरे पर होता है |
उदाहरण के लिए – शार्क , Rays Electric Rays etc .
अस्थिल मछलियां (Bony Fish )
उदाहरण के लिए – रोहू , कतला , मृगल आदि
उपास्थिल एवं अस्थिल मछलियों के बीच अंतर
Previous articleBIO MOLECULES (SHORT NOTES )
Next articleCell Cycle and Cell Division (Short Notes)
यह website जीव विज्ञान के छात्रों तथा जीव विज्ञान में रुचि रखने को ध्यान में रखकर बनाई गई है इस वेबसाइट पर जीव विज्ञान तथा उससे संबंधित टॉपिक पर लेख, वीडियो, क्विज तथा अन्य उपयोगी जानकारी प्रकाशित की जाएगी जो छात्रों तथा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे प्रतियोगियों के लिए महत्वपूर्ण सिद्ध होगी इन्हीं शुभकामनाओं के साथ|
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here